विराम एवं गति (भौतिक विज्ञान भाग २)

AUDIO NOTES IN HINDI

   

 विराम(Rest) किसे कहते है

यदि कोई पिण्ड समय के साथ अपना स्थान नहीं बदले तो उस स्थिति को विराम कहते है यदि वह अपने बिंदु से ना हिले तो उस अवस्था को विराम अवस्था कहा जायेगा

अब हम जानेंगें गति के बारे में कि गति(Motion) किसे कहते है
यदि कोई वस्तु अपनी जगह स्थिर संकेत बिंदु से समय के साथ-साथ बदले तो वह वस्तु गति में समझी जायेगी
 
एक विमा में गति – सीधी रेखा पर की गई गति एकविमीय गति कहलाती है उदाहरण-लंबी व सीधी सडक पर गतिशील कार की गति

 किसी भी वस्तु में अलग अलग तीन प्रकार की गति हो सकती है
स्थानांतरित गति- यह गति तब उत्पन्न होती है जब किसी वस्तु के अलग-अलग स्थितियों को जोडने वाली रेखा की दिशा नहीं बदलती है जैसे- ऊँचाई से गिरता पत्थर 

चक्रीय गति- यह गति तब उत्पन्न होती है जब किसी गतिशील वस्तु में प्रत्येक बिंदु एक वृत पर घूमता है जैसे- बडे-बडे झूलों की गति
आवर्त गति- आवर्त गति जब उत्पन्न होती है जब कोई गतिशील वस्तु एक नियमित समयांतराल के बाद गति को दोहराता है जैसे- सरल लोलक की गति

दूरी- वह लंबाई जो किसी गतिशील वस्तु द्वरा दिये गये समयांतरल में तय की जाती है इसका मान सदा घनात्मक होता है
विस्थापन- किसी गतिशील वस्तु का एक निश्चित दिशा में स्थान परिवर्तन उस वस्तु का विस्थापन कहलाता है 
चाल- किसी गतिशील वस्तु द्वारा प्रति सेकेंड तय की गयी दूरी को चाल कहते है चाल का मान घनात्मक होता है
 चाल = दूरी/समय
वेग- एकांक समय में किसी निश्चित दिशा में तय की गयी दूरी ‘वेग’ कहलाती है

वेग = विस्थापन/ समय

वेग पाँच प्रकार के होते है – 1.समरुप वेग 2. असमरुप वेग 3. औसत वेग 4. सापेशिक वेग 5. कोणीय वेग

त्वरण- वेग में प्रति सेकेंड को वेग कहा जाता है त्वरण में दिशा व परिणाम दोंनों होते है इसलिए यह एक ‘सदिश’ राशि है त्वरण समरुप व असमरुप दोंनों प्रकार के होते हैं   
त्वरण = वेग में परिवर्तन/ समयांतराल


संवेग – वह भौतिक राशि जो गतिशील वस्तु के द्रव्यमान व वेग के गुणनफल के बराबर होती है वस्तु का संवेग कहलाती है
संवेग = द्रव्यमान x वेग


AUDIO NOTES मे और विस्तार पूर्वक सुने,

  1. क्या है अभिकेंद्रिय बल तथा उसके उदाहरण
  2. क्या है अपकेंद्रिय बल तथा उसके उदाहरण
  3. गुरुत्व त्वरण क्या है
  4. और भी अनेक तथ्य जो प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए आवश्यक हैं 

 विराम एवम गति(भौतिक विज्ञान भाग 2) AUDIO NOTES 



अगले ऑडियो नोट्स में आप सुनेंगे संपूर्ण प्राचीन इतिहास एक नज़र में इसमें आप 20 मिनट के हिंदी ऑडियो नोट्स में सम्पूर्ण प्राचीन भारत के इतिहास के सभी महत्त्वपूर्ण तथ्यों को जान पाएंगे यदि आपको हिंदी ऑडियो नोट्स पसंद आते हैं तो हमे subscribe कीजिये तथा हमारा फेसबुक पेज like कीजिये और यदि आपको कोई कमी लगती है तो भी हमें अपने कमेंट्स या सन्देश के माध्यम से अवगत कराएं  हम अपनी गुणवत्ता में लगातार सुधार कर रहे हैं परंतु आपके सुझाव आवश्यक हैं 


centripetal force, centrifugal force formula, centrifugal force definition, examples of centrifugal force, centrifugal force equation, centrifugal pump, centrifugal force vs centripetal force, centrifugal acceleration, centrifugal force, centripetal force equation, centripetal force formula, centripetal force vs centrifugal force, centripetal force definition, centripetal force derivation, centripetal force examples, centripetal acceleration, saral aavart gati, viram and gati

Post a Comment

कमेंट करते समय कृपया अभद्र भाषा का प्रयोग ना करें, ये ब्लाग ज्ञान वर्धन के लिये है अत: अनुरोध है कि शालीन भाषा का प्रयोग करें तथा हमें अपने विचारों से अवगत करायें