Audio Notes

सल्तनत कालीन प्रशासन व्यवस्था(इतिहास भाग 54) Audio Notes



1. सल्तनत काल के प्रमुख अधिकारी कौंन से थे व उनके कार्यो का विवरण
(Saltnat kaal in Hindi)
  • वजीर राजस्व विभाग का प्रमुख,
  • ‘आरिज-ए-ममालिक’ सैन्य विभाग का प्रमुख,
  • ‘वरीद-ए-खास’ शाही पत्र व्यवहार का प्रमुख,
  • ‘सद्र-उस-सुदूर’ धर्म व दान विभाग का प्रमुख,
  • ‘काजी-उल- कजात’ न्याय का सर्वोच्च अधिकारी,
  • ‘वरीद-ए-मुमालिक’ गुप्तचर विभाग का प्रमुख,
  • ‘मुशरिफ-ए-मुमालिक’ महालेखाकार,
  • ’मुस्तैफी-ए-मुमालिक’ महालेखा परीक्षक,
  • ‘ अमीर-ए-हाजिब’ सुल्तान से मिलने वलो की जाँच पडताल करने वाला,
  • ‘सर-ए-जांदर’ सुल्तान के अंग रक्षक अधिकारी,
  • ‘अमीर-ए-मजलिस’ शाही उत्सवों व दावतों का प्रबंध करने वाला होता था

2. प्रमुख विभाग उनके क्या कार्य थे व उनके संस्थापक कौन थे

  •  ‘दीवान –ए-बकूफ’ इसकी स्थापना जलालुद्दीन खिलजी ने की थी और दीवान-ए-बकूफ का कार्य व्यय विभाग देखना,
  • ‘ दीवान-ए-रियासत’ अलाउद्दीन खिलजी की बाजार नीति ,
  • ‘दीवान-ए-अर्ज’ बलबन ने कार्य सैन्य विभाग के लिए,
  • ‘दीवान-ए-अमीरगोही’ मुहम्मद-बिन-तुगलक कृषि विभाग,
  •  ‘दीवान-ए-मुस्तफराज’ अलाउद्दीन राजस्व विभाग
  • ‘दीवान-ए-बंदगाह’ (दासो के लिए) फिरोजशाह तुगलक,
  • ‘दीवान-ए-खैरत’ (दान विभाग) फिरोजशाह तुगलक,
  • ‘दीवान-ए-इस्कफाक’ (पेंशन) फिरोजशाह तुगलक,
  • ‘दीवान-ए-इमारत’ (लोक निर्माण विभाग) फिरोज शाह तुगलक

3. प्रमुख सल्तनत कालीन कर कौन से थे व उनका विवरण

(taxes in saltatnat kaal – zaziya, zakaat, khams, kharaz)
  • ‘उश्र’ मुसलमानो से लिया जाने वाला भूमि कर,
  • ‘खराज’ गैर मुसलिमों से लिया जाने वाला भूमिकर,
  • ‘खम्स’ लूट से प्राप्त धन,
  • ‘जजिया’ गैर मुसलमानो से लिया जाने वाला धार्मिक कर,
  • ‘जकात’ मुसलमानो से लिया जाने वाला धार्मिक कर

4. सल्तनत कालीन महत्वपूर्ण शब्दावली क्या थी

  • ‘अक्ता’ या ‘इक्ता’ सैनिक अधिकारियो को दी जाने वाली लगान मुक्त भूमि,
  • ‘इतलाकी’ सुल्तान की भूमि,
  • ‘खालसा भूमि’ राजकीय भूमि,
  • ‘मिल्क’ विद्दानों को दी गई कर मुक्त भूमि,
  • ‘वफ्क’धार्मिक कार्यो के लिए दी गई लगान मुक्त भूमि,
  •  ‘मसाहत’ भूमि की पैमाइश,
  • ‘हस्म-ए-कत’ केंद्रिय सेना, हस्म-ए-अतरफ’ प्रांतीय सेना,

5. सल्तनत कालीन सैनिक ईकाई कौन-कौन सी थी

  • सरखेल’ दस अश्वारोहियों का सरदार,
  • सिपहसालार’ दस सरखेल का प्रधान,
  • अमीर’ दस सिपहसालार का प्रधान,
  • मलिक’ दस अमीर का प्रधान,
  • खान’ दस मलिक का प्रधान,
  • “सुल्तान”दस खान का प्रधान यह सर्वोच्च सेनापति होता था

6. सल्तनत कालीन कौन से साहित्य की रचना हुई

  •  तहकीके हिंद’ अलबरूनी द्वारा अरबी भाषा में रची गई,
  •  तबकाते –ए-नासिरी’ मिन्हाज द्वारा फारसी में
  •  तारीख-ए- फिरोजशाही’ बरनी द्वारा फारसी में
  •  तुगलकनामा’    अमीर खुसरो द्वारा फारसी में
  •  फुतूह-उस-सलातीन’   इसामी द्वारा फारसी में
  •  किताबुल रेहला’  इब्नतूता द्वारा फारसी में
  •  तारीख-ए-मुबारक शाही’ याहिया बिन अहमद द्वारा फारसी में
  •  गुरुमुखी सुल्तान’ सिकंदर द्वारा फारसी में रची गई

7. सल्तनत कालीन किन-किन स्थापत्य व वास्तु कला का निर्माण हुआ

  • कुतुबुद्दीन ऐबक ने कुव्वत-उल-इस्लाम मस्जिद, ‘कुतुबमीनार’, ‘अढाई दिन का झोपडा’,’किला-ए-रायपिथौरा’
  • अलाउद्दीन खिलजी ने ‘सीरी नामक किले का’,’ हौज-ए-इलाही’, ‘जमात खाना मस्जिद’, ‘हजार सितून’ (स्तम्भ),
  • गयासुद्दीन तुगलक ने ‘तुगलकाबाद’,’गयासुद्दीन तुगलक का मकबरा’
  • मुहम्मद तुगलक ने ‘आलियाबाद’, ‘जहाँपनाह’
  • फिरोजशाह ने 300 नगरो की स्थापना की, ‘फिरोजशाह कोटला’ का निर्माण कराया

                                       ऑडियो नोट्स सुनें      

Download File

 tags: history in hindi, saltnat kaal history in hindi audio, saltnat kaal administration



Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook

Copyright © 2017.

To Top