Common Errors

Degrees of comparison एवम अन्य अति महत्वपूर्ण नियम



Degrees of Comparison

 

Positive Degree

Positive Degree का प्रयोग किसी व्यक्ति या वस्तु के गुण के लिए सामान्यत: तब होता है जब उसकी तुलना न की जा रही हो

जैसे- Ravi is good player.
Comparative Degree

Comparative Degree का प्रयोग दो व्यक्ति या वस्तु के गुणों की तुलना करने के लिए किया जाता है

जैसे-  She is more intelligent than her brother.

 

Superlative Degree

Superlative Degree का प्रयोग दो से अधिक व्यक्ति या वस्तु के गुणों की तुलना के लिए किया जाता है

जैसे- Rekha is the most beautiful girl in the school.
Some Important Rules
(A) Senior, Superior, Junior, Prior, Inferior, Posterior के बाद “to” का प्रयोग होता है “than” का नहीं इनके साथ “more”या “most” का प्रयोग भी नहीं किया जाता
(B) Interior, exterior, minor, major आदिPositive Degree Adjectives है ना तो इनसे पहले “more”या “most”का प्रयोग होता है और ना ही इनके बाद “than”या “to”का प्रयोग होता है
जैसे- The interior decoration of the principal’s office is excellent.
(C) Comparatively या Relatively के बाद हमेशा Positive Degree का प्रयोग किया जाता है
(D) Enough के पहले हमेशा Positive Degree का प्रयोग किया जाता है
(E) Prefers के बाद “to का प्रयोग होता है, यदि तुलना दो Nouns के बीच हो जैसे- She prefers fish to chicken.
Note- लेकिन यदि तुलना दो Infinitives के बीच हो तो Prefer के बाद rather thanका प्रयोग किया जाता है
जैसे- I prefer to read rather than play.
(F) Preferable के बाद “to” का प्रयोग किया जाता है जैसे- Lemon juice is preferable to tea.
(G) Perfect, complete, full, excellent, unique, extreme, circular, universal, chief, golden आदि का न तो Comparative बनाया जाता है और न ही Superlative बनाया जाता है
(H)“so” या “as” के साथ हमेशा Positive Degre और “as” का प्रयोग किया जाता है


Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top