[Download] सामान्य विज्ञान ई बुक भाग- 6

6521
0

*SSC के पिछले वर्षों में पूछे गये तथ्यों का संग्रह भाग 6


(free science eBook in Hindi for SSC CGL)

1. एंडस वायरस के कारण होता है।
2. प्रकाष संष्लेशण वायु में कार्बन डाई आक्साॅइड की मात्रा को नही बढता ।
3. विटामिन डी हमारे षरीर में सबसे अधिक तीव्रता से बनता है।
4. ताॅवा मुक्त अवस्था में पाया जाता है।
5. ताॅवा विधुत अपघटन के कारण षुद्व होता है।
6. सोडियम बेंजोएट एक खाध पदार्थाे के संरक्षक के रूप में प्रयोग किया जाता है।
7. उच्चतम प्रग्मि आयनन ऊर्जा वाला तत्व हीलियम है।
8. कार्बन डाइआक्साइड निर्जलीकारक है।
9. रेडियो – तरंगों के संचरण के लिए प्रयुक्त वायुमण्डल का स्तर आयनमण्डल है।
10. परिदर्षी का सिंद्वान्त पूर्ण आन्तरिक परार्वतन पर काम करता है।
11. ताम्र की डिस्क में छेद है यदि डिस्क को गर्म किया जाए तो छेद का आकार घटता है।
12. वाहन-चालन हेतु पष्च दर्पण उत्तल होता है।
13. काश्ठीय आरेाही लताएॅ वे पादप है जिन्हे विसर्पी लताएॅ कहतें है।
14. मानव के कुल रक्त आयतन में प्लाज्मा का प्रतिषत लगभग 60 होता है।
15. जीवाणु यक्ष्मा बीमारी पैद ा करने वाले जीव है।
16. मूत्र संग्राहक वाहिनियों में बनता है।
17. काला-अजार ज्वर का संचरण सिकता मक्खी के काटने से होता है।
18.
19. खाध पदार्थो के परिरक्षक के रूप में सोडियम बेन्जेाएट का प्रयोग किया जाता है। 20. ताॅवा का प्रयोग विधुत चुम्बक रूप में नही किया जा सकता है।
21. आंतरिक संक्रमण तत्वों की कुल संख्या 28 होती है।
22. सूखी वर्फ ठोस कार्बनडाइआॅक्साइड है
23. प्रकास संष्लेशण वायु को प्रदुशित नही करता है।
24. विधुत चुंबकिय तरंगें प्रकाष तरंग है।
25. गैल्वेनोमीटर के द्वारा धारा को नापा जाता है।
26. नाइस और षिस्ट कायांतरित षेैल है।
27. वायु की क्षैतिज गति से होने वाले ऊश्मा के आन्तरण को संवहन कहतें है।
28. वायुमंडल के ऊपरी स्तरों में विधमान ओजोन पराबैगनी सौर विकिरण का अवषोशण करती है।
29. कार्बन डाईआॅक्साइड गैस ग्रीन हाउस गैस है।
30. षैक लाइकेन सहजीवी है।
31. हमारे षरीर की यकृत कोषिकाओं में सबसे कम पुनर्योजी षक्ति होती है।
32. मानव हदय में चार वाल्व होते है।
33. रोगप्रतिकारकों को उत्पन्न करने वाला सेल लिम्फोसाइट है।
34. डायस्टेस एन्जाइम को स्त्रोत लार-ग्रन्थि है।
35. माइकोप्लाज्मा जिस रोग से सम्बद्व है , वह ष्वास संबंधी अवयवों को प्रभावित करता है।
36. चाॅदी अधिक विधुत – चालकता वाली धातु है।
37. जब वाश्प दाब , वायुमण्डलीय दाब के बराबर हो जाता है तो द्रव उबलने लगता है।
38. न्यूक्लीय रिएक्टर में भारी पानी का प्रयोग नियामक के रूप में किया जाता है।
39. भीड को तितर बितर करने में पुलिस द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली गैस क्लोरीन होती है।
40. ऐनेमोमीटर पवन का वेग नापने के काम आता है।
41. रेफ्रिजरेटर खाध पदार्थो को खराब होने से बचाते है क्याकि इसके न्यून तापमान पर जीवाणु और फफूंदी निश्क्रिय होते है।
42. आसुत जल मिश्रण नही हैं
43. – 40 डिग्री का पाठयांक फारेनहाइट और सेल्सियस दोनों पैमाने पर वही होता है। 44. पहाडेां पर जल कम तापमान पर उबलता है क्योकि पहाडों पर वायु दाव कम होता है।
45. पारिस्थितिक – तन्त्र में ऊर्जा का स्त्रोत सूर्य है। 46. स्टेनलेस स्टील में टंगस्टन नही होता हैं
47. सौर विकिरण का जो भाग बिना गरमी दिए पृथ्वी से परावर्तित हो जाता है धवलता कहलाता हैं
48. किसी मृदा का पी0एच0 मान उस विषेश मृदा में अम्ल अंष को मापित करता है। 49. तापीय वैधुत को पैदा करने के लिए एन्थ्रासाइट प्रकार का कोयला मुख्य रूप से उपयुक्त है।
50. नाभिकिय विखण्डन में ऊर्जा ऊश्मा के रूप में निकलती है।
यदि आपको हमारा प्रयास पसंद आया हो तो हमारा फेसबुक पेज लाइक करना ना भूलें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here