Read and listen these short gk notes in hindi to know the causes of 1857 revolt and about leaders like bahadur shah zafar, mangal pandey, begum hazrat mahal,jhansi ki rani, kunwar singh & more. where it was began at. meerut/bihar/delhi/gwalior/ lucknow/kanpur or Jhansi. who was escaped to nepal. know all the consequences, events and dates. 1857 revolt as national rising.
image source-Wikipedia
1857 का विद्रोह का प्रारम्भ
  • 1857 का विद्रोह कम्पनी के अधीनस्थ भारतीय सैनिकों की बगावत से प्रारम्भ हुआ
  • 29 मार्च 1857 को बंगाल के बैरकपुर सैन-ए छावनी में तैनात 19 वीं और 34 वीं नैटिव इंफेंटरी में जो सैनिक थे उन्होंने चर्बी लगे कारतूसों को प्रयोगों में लाने से मना कर दिया

बॉथ की हत्या

  •  इन्हीं में एक सैनिक मंगल पांडे थे जिन्होंने इसी बात पर अपने ऑफिसर बॉथ की हत्या कर दी और यहींं से 1857 का विद्रोह शुरु हो गया
  • मंगल पांडे को बाद में पकड लिया गया और 19 वीं और 34 वीं इंफेंटरी बंद कर दी गई व मंगल पांडे पर मुकदमा चला के उसे फाँसी दे दी गई
  • इसके बाद 10 मई 1857 को मेरठ से यह प्रारंभ होकर 11 मई को विद्रोही सैनिक दिल्ली पहुँचे और वहाँ पर जो अपदस्थ मुगल सम्राट बहादुर शाह जफर था उसे इन्होंने अपना नेता घोषित कर दिया वास्तविक सैनिक नेतृत्व जनरल बख्त खाँ के हाथों था
  • अवध में बेगम हजरत महल ने विद्रोहीयों का नेतृत्व संभाला और उसके पुत्र विजरिस कादिर को वहाँ का शासक घोषित कर दिया

21 सितम्बर 1857पर दिल्ली पर कब्जा

  • अंग्रेजों ने पंजाब से सेना बुला के 21 सितम्बर 1857पर दिल्ली पर कब्जा कर लिया और लेफ्टिनेंट हडसन ने धोखे से बहादुर शाह द्वितीय ने बहादुर शाह जफर के दो पुत्रों और एक पोते को गोली मार दी

विद्रोहियों का नेतृत्व

  • कानपुर ने तात्या टोपे और नाना साहेब ने विद्रोहियों का नेतृत्व किया तात्या टोपे को सिधिंया के एक सामंत मानसिंह ने धोखे से पकडवा दिया गया 1859 में इन्हें फाँसी दे दी गई
  • नाना साहब हजरत महल और खान बहादुर खाँ यह नेपाल भाग गये

 जनरल जफर खाँ की मृत्यु

  • जनरल जफर खाँ जो बहादुर शाह की सेना का नेतृत्व कर रहे थे वो भी 1859 में लडते हुए शहीद हो गए
  • जुलाई 1858 तक विद्रोह को बिल्कुल दबा दिया गया

विद्रोह का नेतृत्व तथा दमन

  • दिल्ली से बहादुर शाह जफर और बक्त खाँ इसका नेतृत्व कर रहे थे तथा निकलसन और हटसन इसका दमन कर रहे थे
  • कानपुर से नाना साहेब नेतृत्व कर रहे थे तथा कोलिन कैम्पेन इसका दमन कर रहे थे
  • जगदीशपुर बिहार से कुंवर सिंह और उनके भाई अमर सिंह नेतृत्व कर रहे थे और मेजर विलियम टेलर दमन करने वाले थे
  • झाँसी से रानी लक्ष्मी बाई और ग्वालियर से तात्या टोपे तथा फ्यूरोज दमन करने वाले थे
  • लखनऊ से बेगम हजरत महल और बिजरिस कादिर तथा दमन करने वाले अधिकारी कोलिन कैम्पेल और हेनरी लॉयंस
  • इलाहबाद से लियाकत अली और दमन करने वाले अधिकारी कर्नल ली
  • फैजाबाद से मौलवी अब्दुल्ला और दमन करने वाले अधिकारी सर रिनॉर्ड
  • बरेली से खान बहादुर और दमन करने वाले अधिकारी सर आयर

ऑडियो नोट्स सुनें





Post a Comment

कमेंट करते समय कृपया अभद्र भाषा का प्रयोग ना करें, ये ब्लाग ज्ञान वर्धन के लिये है अत: अनुरोध है कि शालीन भाषा का प्रयोग करें तथा हमें अपने विचारों से अवगत करायें