Home History Ancient History अर्थशास्त्र में उल्लेखित चौदह तीर्थ (Fourteen pilgrims mentioned in Arthshashtra)

अर्थशास्त्र में उल्लेखित चौदह तीर्थ (Fourteen pilgrims mentioned in Arthshashtra)

अर्थशास्त्र में उल्लेखित चौदह तीर्थ (Fourteen pilgrims mentioned in Arthshashtra)

1 प्रधानमंत्री और पुरोहित पुरोहित प्रमुख धर्माधिकारी होते थे | चंद्रगुप्त मौर्य के समय में यह दोनों विभाग कौटिल्य के अधीन थे | बिंदुसार के समय में विष्णुगुप्त कुछ समय तक उसका प्रधानमंत्री था उसके बाद खल्लाटक को प्रधानमंत्री बनाया गया | अशोक का प्रधानमंत्री राधागुप्त था |
2 समाहर्ता राजस्व विभाग का प्रधान अधिकारी |
3 सन्निधाता राजकीय कोषाध्यक्ष |
4 सेनापति युद्ध विभाग का मंत्री |
5 युवराज राजा का उत्तराधिकारी |
6 प्रदेष्टा फौजदारी (कंटक शोधन) न्यायालय के न्यायाधीश |
7 नायक सेना का संचालक अर्थात सेना का नेतृत्व |
8 कर्मांतिक देश के उद्योग धंधों का प्रधान निरीक्षक |
9 व्यवहारिक दीवानी (धर्मस्थीय) न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश |
10 मंत्री परिषदाध्यक्ष मंत्री परिषद का अध्यक्ष |
11 दंडपाल सेना की सामग्रियों को जुटाने वाला प्रधान अधिकारी |
12 अंतपाल सीमावर्ती दुर्गों का रक्षक |
13 दुर्गापाल देश के भीतरी दुर्गों का प्रबंधक |
14 नागरक नगर का प्रमुख अधिकारी |
15 प्रशास्ता राजकीय कागजातों को सुरक्षित रखने वाला तथा राज्य की आज्ञाओं को लिपिबद्ध करने वाला प्रधान अधिकारी |
16 दौबारिक राजमहलों की देखरेख करने वाला प्रधान अधिकारी |
17 अंतवरशिक सम्राट की अंगरक्षक सेना का प्रधान अधिकारी |
18 आटविक वन विभाग का प्रधान अधिकारी |

 

* विषयवार नोट्स * डाउनलोड्स *



1 COMMENT

  1. Very nice and informative. Thanks guys. But you wrote 14 pilgrimis in Arthshastra but these are 18. So which 14 were consider as pilgrims.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here