अर्थशास्त्र में उल्लेखित चौदह तीर्थ (Fourteen pilgrims mentioned in Arthshashtra)

618
1

अर्थशास्त्र में उल्लेखित चौदह तीर्थ (Fourteen pilgrims mentioned in Arthshashtra)

1 प्रधानमंत्री और पुरोहित पुरोहित प्रमुख धर्माधिकारी होते थे | चंद्रगुप्त मौर्य के समय में यह दोनों विभाग कौटिल्य के अधीन थे | बिंदुसार के समय में विष्णुगुप्त कुछ समय तक उसका प्रधानमंत्री था उसके बाद खल्लाटक को प्रधानमंत्री बनाया गया | अशोक का प्रधानमंत्री राधागुप्त था |
2 समाहर्ता राजस्व विभाग का प्रधान अधिकारी |
3 सन्निधाता राजकीय कोषाध्यक्ष |
4 सेनापति युद्ध विभाग का मंत्री |
5 युवराज राजा का उत्तराधिकारी |
6 प्रदेष्टा फौजदारी (कंटक शोधन) न्यायालय के न्यायाधीश |
7 नायक सेना का संचालक अर्थात सेना का नेतृत्व |
8 कर्मांतिक देश के उद्योग धंधों का प्रधान निरीक्षक |
9 व्यवहारिक दीवानी (धर्मस्थीय) न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश |
10 मंत्री परिषदाध्यक्ष मंत्री परिषद का अध्यक्ष |
11 दंडपाल सेना की सामग्रियों को जुटाने वाला प्रधान अधिकारी |
12 अंतपाल सीमावर्ती दुर्गों का रक्षक |
13 दुर्गापाल देश के भीतरी दुर्गों का प्रबंधक |
14 नागरक नगर का प्रमुख अधिकारी |
15 प्रशास्ता राजकीय कागजातों को सुरक्षित रखने वाला तथा राज्य की आज्ञाओं को लिपिबद्ध करने वाला प्रधान अधिकारी |
16 दौबारिक राजमहलों की देखरेख करने वाला प्रधान अधिकारी |
17 अंतवरशिक सम्राट की अंगरक्षक सेना का प्रधान अधिकारी |
18 आटविक वन विभाग का प्रधान अधिकारी |

 

Download Notes in English For All Competitive Exams

1 COMMENT

  1. Very nice and informative. Thanks guys. But you wrote 14 pilgrimis in Arthshastra but these are 18. So which 14 were consider as pilgrims.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here