धातु ,अधातु और यौगिकों की उपयोगिता | Metal and non-metal compounds in Hindi



हमारा YouTube Channel Subscribe करें

Metal and non-metal compounds in Hindi


क्या है इस Post में –

  1. Information of Metal and non-metal compounds in Hindi 
  2. धातुओं तथा अधातुओं तथा उनके यौगिकों के उपयोग 
  3. Best Video From YouTube about Metal and non-metal compounds in Hindi
  4. Best Questions and Answers from Quora about Metal and non-metal compounds 

Information About Metal and non-metal compounds in Hindi 


धातु (metals)-क्या है? – रसायनशास्त्र के अनुसार धातु (metals) वे तत्व हैं जो सरलता से इलेक्ट्रान त्याग कर धनायन बनाते हैं और धातुओं के परमाणुओं के साथ धात्विक बंध बनाते हैं। इलेक्ट्रानिक मॉडल के आधार पर, धातु इलेक्ट्रानों द्वारा आच्छादित धनायनों का एक लैटिस हैं। धातुओं की पारम्परिक परिभाषा उनके बाह्य गुणों के आधार पर दी जाती है। सामान्यतः धातु चमकीले, प्रत्यास्थ, आघातवर्धनीय और सुगढ होते हैं। धातु उष्मा और विद्युत के अच्छे चालक होते हैं जबकि अधातु सामान्यतः भंगुर, चमकहीन और विद्युत तथा ऊष्मा के कुचालक होते हैं।

अधातु (non-metals)क्या है?-  रासायनिक वर्गीकरण में प्रयुक्त होने वाला एक शब्द है। आवर्त सारणी का प्रत्येक तत्व अपने रासायनिक और भौतिक गुणों के आधार पर धातु अथवा अधातु श्रेणी में वर्गीकृत किया जा सकता है। (कुछ तत्व जिनमें दोनों के गुण पाये जाते हैं उन्हें उपधातु (metaloid) की श्रेणी में रखा जाता है।) आवर्त सारणी में ये १४वें (XIV) से लेकर १८वें (XVIII) समूह में दाहिने-ऊपरी कोने में स्थित हैं। इसके अलावा प्रथम समूह में सबसे उपर स्थित उदजन भी अधातु है। हाइड्रोजन के अलावा जारक, प्रांगार, भूयाति, गंधक, भास्वर, हैलोजन, तथा अक्रिय गैसें अधातु मानी जाती हैं। प्रायः आवर्त सारणी के केवल 18 तत्व अधातु की श्रेणी में गिने जाते हैं जबकि धातु की श्रेणी में 80 से भी अधिक तत्व आते हैं। फिर भी पृथ्वी के गर्भ का, वायुमण्डल और जलमण्डल का अधिकांश भाग अधातुएँ ही हैं। जीवों की संरचना में भी अधातुओं का ही अधिकांशता है।


धातुओं तथा अधातुओं तथा उनके यौगिकों के उपयोग 

1. कोबाल्ट कैंसर के इलाज में
2. निकेल तेलों के हाइड्रोजनीकरण के उत्प्रेरक के रूप में
3. बोरियम एक्स किरणों के अवशोषक के रूप में
4. एल्युमिनियम बर्तन, तार, एल्युमिनियम पाउडर, पेंट, मिश्र धातु आदि के निर्माण में
5. जिंक बैटरी बनाने में, हाइड्रोजन बनाने में, लोहे के जस्तीकरण में
6. पारा अमलगम बनाने में, थर्मामीटर में, सिंदूर बनाने में, बैटरी बनाने में, हाइड्रोजन बनाने में, लोहे के जस्तीकरण में
7. तांबा बिजली के तार बनाने में, मिश्रधातु के निर्माण में
8. कैल्शियम अवकारक के रूप में, पेट्रोलियम से सल्फर हटाने में
9. मैग्नीशियम फ्लैश बल्ब बनाने में, धातु मिश्रण बनाने में
10. सोडियम सोडियम परॉक्साइड बनाने में
11. टंगस्टन विद्युत बल्ब का फिलामेंट बनाने में
12. प्लेटिनम एडम उत्प्रेरक के रूप में
13. कैडमियम नाभिकीय रिएक्टरों में मंदक के रूप में
14. सीजियम सौर सेलों में
15. जर्मनियम ट्रांजिस्टर बनाने में
16. एंटीमनी दियासलाई बनाने में
17. यूरेनियम परमाणु भट्टी में ईंधन के रूप में
18. सिलिकॉन इलेक्ट्रॉनिक्स में
19. पेलेडियम वायुयान के निर्माण में
20. थोरियम परमाणु भट्टी में ईंधन के रूप में
21. सोना आभूषण निर्माण में
22. चांदी आभूषण बनाने में, लुनर कास्टिक बनाने में, चांदी के लवण का उपयोग, फोटोग्राफी में आदि |
23. सीसा फ्यूज बनाने में, मिश्रधातुओं के निर्माण में, टेट्राइथल लेड नामक अपस्फोटनरोधी यौगिक के निर्माण में आदि |
24. लोहा मिश्र धातुओं के निर्माण में मशीनों के निर्माण में, कलपुर्जों के निर्माण में
25. हाइड्रोजन अमोनिया के उत्पादन में, रॉकेट ईंधन के रूप में कार्बनिक यौगिक के निर्माण में आदि |
26. द्रव हाइड्रोजन रॉकेट ईंधन के रूप में
27. हीलियम श्वसन के लिए हीलियम-ऑक्सीजन मिश्रण बनाने में, हवाई जहाज के टायरों में हवा भरने में, निम्न तापीय भौतिकी के लिए
28. आर्गन विद्युत बल्बों के निर्माण में
29. ओजोन भोज्य पदार्थों को सड़ने से बचाने में, कृत्रिम रेशम एवं कपूर बनाने में, जीवाणुनाशी के रूप में, जल को शुद्ध करने में आदि |
30. सल्फर कीटाणुनाशक के रूप में, बारूद बनाने में, औषधि के रूप में आदि |
31. फास्फोरस लाल फास्फोरस का उपयोग दियासलाई बनाने में, श्वेत फास्फोरस का उपयोग चूहा विष बनाने में, फास्फोरस ब्रांज मिश्र धातु बनाने में आदि |
32. क्लोरीन ब्लीचिंग पाउडर बनाने में, मस्टर्ड गैस बनाने में, हाइड्रोक्लोरिक अम्ल बनाने में, कपड़े एवं कागज को विरंजित करने में आदि |
33. ब्रोमीन रंग उद्योग में, औषधि बनाने में, प्रतिकारक के रूप में आदि |
34. आयोडीन टिंक्चर आयोडीन बनाने में, रंग उद्योग में, कीटाणुनाशक के रूप में, आयडोफार्म के निर्माण में आदि |
35. रेडॉन रेडियोधर्मिता गुण के कारण कैंसर के उपचार में
36. क्रिपटॉन विद्युत विसर्जन नालियों में
37. निऑन चमकीले विद्युत विज्ञापनों में
38. भारी जल नाभिकीय प्रतिक्रियाओं में, मंदक के रूप में, ड्यूटेरेटेड यौगिक के निर्माण में, ट्रेसर के रूप में आदि |
39. हाइड्रोजन पेरोक्साइड ऑक्सीकारक के रूप में, कीटाणुनाशक के रूप में, जर्मनाशी एवं प्रतिरोधी के रूप में, पुराने तेल चित्रों को पुनः सफेद करने में, रेशम, ऊन, चमड़ा आदि के विरंजन में आदि |
40. जल गैस ईंधन के रूप में, अपचायक के रूप में, अल्कोहल के निर्माण में आदि |
41. हाइड्रोजन सल्फाइड सल्फाइड के निर्माण में, लवणों के भास्मिक मूलकों के गुणात्मक विश्लेषण में आदि |
42. सल्फ्यूरिक अम्ल स्टोरेज बैटरी में, प्रयोगशाला में प्रतिकारक के रूप में, रंग उत्पादन में, पेट्रोलियम के शुद्धिकरण में, लेड संचायक बैटरी बनाने में आदि |
43. नाइट्रिक अम्ल कृत्रिम रेशम रंग एवं औषधियों के निर्माण में, विस्फोटकों के निर्माण में आदि |
44. हाइड्रोक्लोरिक अम्ल क्लोरीन बनाने में, अम्लराज बनाने में रंग बनाने में, क्लोराइड लवण के निर्माण में आदि |
45. कार्बन मोनोऑक्साइड फास्जीन गैस बनाने में, जल गैस बनाने में, प्रोड्यूशर गैस बनाने में आदि |
46. कार्बन डाइऑक्साइड आग बुझाने में, सोडा वाटर बनाने में, शीतल पेय पदार्थों के निर्माण में, शुष्क बर्फ के निर्माण में आदि |
47. हीरा कांच काटने में, आभूषणों के निर्माण में आदि |
48. प्रोड्यूशर गैस ईंधन के रूप में, निष्क्रिय वातावरण तैयार करने में आदि |
49. कोल गैस ईंधन के रूप में निष्क्रिय वातावरण तैयार करने में आदि |
50. सल्फर डाइऑक्साइड अवकारक के रूप में, ऑक्सीकारक के रूप में, विरंजक के रूप में आदि |
51. सोडियम बाइकार्बोनेट बेकरी उद्योग में, अग्निशामक में, प्रतिकारक के रूप में, ठंडे पेय पदार्थ बनाने में, दवाओं में सोडा वाटर बनाने में आदि |

1. सोडियम कार्बोनेट कपड़े साफ करने में, डिटर्जेंट पाउडर के रूप में, जल शुद्धिकरण के रूप में, रंजक द्रव्यों के निर्माण में आदि |
2. कास्टिक सोडा साबुन बनाने में, रेशम उद्योग में, CO2 को अवशोषित करने में ,पेट्रोलियम के शुद्धिकरण में आदि |
3. नौसादर कपड़ों को रंगने में, दवाओं के निर्माण में, शुष्क सेलों के निर्माण में आदि |
4. साधारण नमक खाने के रूप में, बर्फ के साथ-हिम मिश्रण बनाने में, विभिन्न पदार्थो के संरक्षण में, अनेक रासायनिक पदार्थो के निर्माण में आदि |
5. लाल लेड लाल पेंट बनाने में, सीमेंट एवं माचिस उद्योग में आदि |
6. बेसिक लेड कार्बोनेट पेंट बनाने में
7. जिंक क्लोराइड निर्जलीकारक के रूप में, लकड़ी के कीड़ों से बचाने में आदि
8. जिंक ऑक्साइड मल्हम बनाने में, पेर्सेलिन में चमक पैदा करने में आदि |
9. जिंक सल्फाइड श्वेत पिंकमेंट के रूप में
10. जिंक क्लोराइड वस्त्र उद्योग में, कार्बनिक संश्लेषण में आदि |
11. जिंक सल्फेट लिथोपोन के निर्माण में, चर्म उद्योग में, आंखें के लिए लोशन बनाने में आदि |
12. म्यूरिक क्लोराइड कीटनाशक के रूप में, कैलोमल के निर्माण में आदि |
13. मरक्यूरिक ऑक्साइड विष के रूप में, मल्हम बनाने में आदि |
14. सिल्वर नाइट्रेट औषधियों के निर्माण में, फोटोग्राफी में लवणों के निर्माण में, दर्पण की पॉलिश करने में, त्वचा में काल निशान की स्याही के रूप में आदि |
15. सिल्वर ब्रोमाइड फोटोग्राफी में
16. सिल्वर आयोडाइड फोटोक्रोमिक कांच के निर्माण में, कृत्रिम वर्षा कराने में आदि |
17. कॉपर सल्फेट कीटाणुनाशक के रूप में, विद्युत सेलों में, कॉपर शुद्धिकरण में, रंग बनाने में आदि |
18. क्यूप्रिक ऑक्साइड पेट्रोलियम के शुद्धिकरण में, नीला तथा हरा कांच के निर्माण में आदि |
19. क्यूप्रस ऑक्साइड लाल कांच के निर्माण में, पेस्टेसाइड के रूप में आदि |
20. क्यूप्रिक क्लोराइड ऑक्सीकारक के रूप में, जल शुद्धिकरण में, धागे की रंगाई में आदि |
21. मैग्नीशियम कार्बोनेट दवा बनाने में, दंत मंजन बनाने में, जिप्सम साल्ट बनाने में आदि |
22. मैग्नीशियम ऑक्साइड औषधि निर्माण में, रबड़ पूरक के रूप में बॉयलर के प्रयोग में आदि |
23. मैग्नीशियम हाइड्रोक्साइड चीनी उद्योग में मोलासेस से चीनी तैयार करने में
24. फेरिक क्लोराइड रक्तस्राव रोकने में, संकर यौगिक बनाने में आदि |
25. फेरस अमोनियम सल्फेट अपचायक के रूप में, नीली स्याही के निर्माण में, चमड़ा उद्योग में आदि |
26. फेरस ऑक्साइड हरे कांच बनाने में, फेरस लवणों के निर्माण में आदि |
27. फेरिक ऑक्साइड आभूषणों में पॉलिश करने में, फेरिक लवणों के निर्माण में आदि |
28. फेरस सल्फेट रंग उद्योग में, मोहर लवण बनाने में, स्याही बनाने में आदि |
29. फेरिक हाइड्रोक्साइड प्रयोगशाला में प्रतिकारक के रूप में, दवा बनाने में आदि |
30. जिप्सम प्लास्टर ऑफ पेरिस बनाने में, अमोनियम सल्फेट बनाने में, सीमेंट उद्योग में आदि |
31. प्लास्टर ऑफ पेरिस मूर्तियां बनाने में, शल्य चिकित्सा में, पट्टी बनाने में, खिलौना बनाने में आदि |
32. कैल्शियम कार्बाइड एसिटिलीन बनाने में, कैल्शियम साइनाइड बनाने में आदि |
33. कैल्शियम ऑक्साइड ब्लीचिंग पाउडर (विरंजक चूर्ण) बनाने में, गारे के रुप में आदि |
34. कैल्शियम कार्बोनेट टूथपेस्ट बनाने में, चूना बनाने में आदि |
35. ब्लीचिंग पाउडर कीटाणुनाशक के रूप में, कागज तथा कपड़ों के विरंजन में क्लोरीन बनाने में किलो क्लोरोफॉर्म बनाने में जल के शुद्धीकरण आदि |
36. मोना पोटेशियम टैर्टरेट बेकरी उद्योग में
37. सुहागा जल को मृदु करने में, चमड़े को साफ करने में, चमड़े की रंगाई करने में आदि |
38. बोरिक अम्ल खाद्य पदार्थों के संरक्षण में, पूर्तिरोधी के रूप में आदि |
39. माइक्रो कॉस्मेटिक सॉल्ट रंगीन क्षार मूलकों के परीक्षण में
40. ऑर्थोफास्फोरिक परिरक्षण के रूप में, उर्वरकों के निर्माण में पदार्थों को अग्निसह बनाने में आदि |
41. फिटकरी औषधि निर्माण में, जल के शुद्धिकरण में, चमड़ा उद्योग में, कपड़ों की रंगाई में, रक्तस्राव रोकने में आदि |
42. नाइट्रस ऑक्साइड शल्य चिकित्सा में, निश्चेतक के रूप में, धातु एजाइड के रूप में आदि |
43. एलुमिनियम क्लोराइड रंगाई एवं छपाई में, पेट्रोलियम के भंजन में आदि |
44. नाइट्रस अम्ल ऑक्सीकारक के रूप में, अवकारक के रूप में, यूरिया की मात्रा के निर्धारण में आदि |
45. अमोनिया बर्फ बनाने में, यूरिया, अमोनिया सल्फेट आदि उर्वरक बनाने में, अमोनिया लवण बनाने में, विस्फोटक पदार्थ बनाने में, कृत्रिम रेशा बनाने में आदि |
46. बेसिक लेड एसीटेट सफेदा बनाने में
47. लेड एसीटेट रंगाई और छपाई में रंग बंधक के रूप में, त्वचा रोगों (एक्जिमा) के उपचार में आदि |
48. स्कैनस क्लोराइड अपचायक के रूप में, रंगाई और छपाई में रंग बंधक के रूप में, कार्सियास पर्पिल बनाने में आदि |
49. क्रोम एलम बंधक के रूप में, जल के शोधन में बहते हुए रक्त को रोकने में, चमड़ा एवं कागज उद्योग में आदि |
50. क्यूप्रस                              क्लोराइड अपचायक के रूप में, गैस विश्लेषण में, कयूप्रस एसिटिलाइड बनाने में, एसिटिलीन के शोधन में आदि |
51. फास्फीन कैल्शियम फास्फाईट धूम्रपट बनाने में
52. कैल्शियम फास्फाइड घरेलू सिग्नल के रूप में समुद्री जहाजों को संकेत देने में
53. आर्सेनिक डाइऑक्साइड कीटनाशक के रूप में, अपतरण के रूप में, खाल और चमड़ा के संरक्षण में, औषधीय बनाने में आदि |

Best Video From YouTube about Metal and non-metal compounds in Hindi



Best Questions and Answers from Quora about Metal and non-metal compounds 

Quesstion 1. What happens when metals react with non metals?

Answer – Metals have a property of donating electrons when an electronegative atom approaches it. Non metals,on the other hand, have a property of accepting electrons. So whenever a metal atom has a free electron in its valence shell, a non metal may show up demanding that electron. Also a metal attains stable state by donating whereas a non metal obtains stability by receiving electrons. By fulfilling these conditions the elements attain octet configuration,that is , a stable state.


Question 2. Why are non-metal oxides acidic?

Answers – Most nonmetal oxides are acidic, but not all. For example, carbon monoxide (CO) is not acidic.The addition of water to a nonmetal oxide results in a compound that consists of a nonmetal atom surrounded by oxo (=O) and hydroxy (-OH) groups. For example,

SO3(l) + H2O(l) —–> H2SO4(l)

where the structure of sulfuric acid is as follows:

(Caution: this reaction is extremely exothermic and dangerous.)

Such a molecule readily loses a proton from one of its hydroxy groups because the resulting anion is highly stabilized by the oxygen atoms and the electronegative nonmetal atom. Therefore, it’s acidic. Such a compound is called an oxyacid. Acid strength generally increases with the number of oxygens and the electronegativity of the nonmetal.

Note that the oxyacid itself may be unstable. It doesn’t matter. The important thing is that the anion is stable. A nonmetal oxide may then react with water to directly give a proton and the conjugate base of the oxyacid:

CO2(g) + H2O(l) —–> H+(aq) + HCO3-(aq)


Question 3. Ammonia is a non-metallic compound. Non-metallic oxides, when dissolved in water, must give an acid. But ammonium hydroxide is an alkali. Why is it so?

Answer- First, non-metallic oxides when dissolved in water, gives an acid. True (with the except of CO, H2O, NO and a handful of others that are non-metallic neutral oxides) BUT ammonia is NOT an oxide. NH3. Where is the oxygen?Secondly, when we mention that non-metallic oxides, we kinda implied that it is just the non-metal and oxygen. A compound that is made up of an non-metal and oxygen. We have learnt that compounds and the elements that make them up have different properties. (I hope you still can remember that.) NH3 and N and N2 have completely different physical and chemical properties. In organic chemistry I can have isomers that are acidic, basic, neutral, just by rearranging carbon, nitrogen, hydrogen and oxygen.


Question 4. How can I find the valency of any metal, non-metal, element, compound and radical?

Answer- Valency means ability of atom to lose, gain, or share electrons on the basis of octet rule to satisfy it’s stability. It indicates the group number of metal, non-metal etc also also indicates the combining capacity of one specie to other specie . So on that basis we can find or judge the valency of any chemical species.

* विषयवार नोट्स * डाउनलोड्स *

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here